logo

Whatsapp Number: +91-90416-06444

Soch raha hun ab bewafa hone ka tarika seekh lun

Muhabbat de de ke hum ne apni qadr kho di

फिक्र तो तेरी आज भी करते है..

बस जिक्र करना छोड दिया !!

सुनो नफरत है मुझे हर एक आईने से

जो बड़ी गौर से देखता है तुझे

सस्ता सा कोई इलाज़ बता दो इस मुहोब्बत का

एक गरीब इश्क़ कर बैठा है इस महंगाई के दौर मैं

er kasz

मेरे अलावा किसी और को अपना महबूब बनाकर देख ले

तू भी कह उठेगी उसमे कुछ ओर बात थी

Wada karte hain dosti nibhayenge

Koshish yahi rahegi tujhe na satyaenge

Zarurat pade toh dil se pukarana

Mar bhi rahe honge to mohlat lekar aayenge

दोस्तों ने पूछा किसने तकलीफ दी है

आइने के आगे खड़े थे सामने की तरफ उंगली उठ गई

पत्थर की दुनिया जज़्बात नही समझती,
दिल में क्या है वो बात नही समझती,
तन्हा तो चाँद भी सितारों के बीच में है,
पर चाँद का दर्द वो रात नही समझती…

मगरूर हमें कहती है तो कहती रहे दुनिया

हम मुड़ कर पीछे किसी को देखा नहीं करते

हमनेँ पूछाँ कैसे निकलती है जान एक पल मे

उसने चलते चलतें मेरा हाथ छोड दिया

मोहब्बत भी तूने क्या चीज़ बनायी है

ए-खुदा

तेरी ही मस्जिद में तेरा ही बंदा तेरे ही सामने रोता है किसी और के लिये !!

यूं तो तेरे शहर का मौसम ‪खिलखिलाता‬ बहुत है

मगर फिरभी जाने क्यों आज वहां ‪#‎सन्नाटा‬ बहुत है

दिल की बातें जाकर के दिलदार को बताती

बड़ी ही खूबसूरती से अपनी ओकात छुपाती है

कुछ पल के लीये ही मुझे अपनी बाहों में सुला लो

अगर आँख खुली तो उठा देना अगर ना खुली तो दफ़ना देना

पता है मैं हमेशा खुश क्यों रहता हूँ क्योंकि

मैं खुद के सिवा किसी से कोई उम्मीद नहीं रखता

Yaad Ata Hai Wo Pyar Uska

Uske Pyar Ko Dil Se Mitaau Kaise.

Wo To Auron Ke Sath Khush Hai,

Par Mai Apna Dil Gairon Se Lagau Kaise.??

किसी रोज रोशन मेरी भी जिंदगी होगी

इंतजार सुबह का नही किसी के लौट आने का है

जल गया सारा जमाना हम से

जब हमने हर दुऑ मै तेरा साथ मांगा

ये नज़रें तो किसी को देखना ही नहीं चाहती ,
तो दिल में कैसे बसाएंगी किसी को ,

जितनी शिद्दत से मुझे ज़ख़्म दिए हैं उस ने

उतनी शिद्दत से तो मैंने उसे चाहा भी नहीं था..

Load More
Top