logo

Whatsapp Number: +91-90416-06444

क्यों न सज़ा मिलती हमें मोहब्बत में आख़िर
हमने भी बहुत दिल तोड़े थे उस शख्स की ख़ातिर.....

Jab Jab Aya uska NAAM mere Dard k Fasaane mein

Tab tab Maine ghazal bna kr Adhuri chhor di

er kasz

तुम किसी और से मालूम तो करके देखो

हम किसी ओर के कितने है और तुम्हारे कितने

जहा हर बार अपनी बातो पर सफाई देनी पड़ जाए.

वो रिश्ते कभी गहरे नही होते ..!!

हमें भी आते है अंदाज़ दिल तोड़ने के

हर दिल में ख़ुदा बसता है यही सोचकर चुप हूँ मैं

तरस गए हैं तेरे लब से कुछ सुनने को हम.
प्यार की बात न सही कोई शिकायत ही कर दे..

कुछ इसलिये भी ख्वाइशो को मार देता हूँ

माँ कहती है घर की जिम्मेदारी है तुझ पर

ऎ खुदा तेरे दरबार मे फरियाद करता हु

मुझे मिलादे उस से जिसे मै प्यार करता हु

नसीहत अच्छी देती है दुनिया

अगर दर्द किसी और का हो

फासले बढते हैं तो गलतफहमीयां भी बढ जाती हैं

फिर वो भी सुनाई देता है जो कहा भी ना हो

मुझे नींद की इजाज़त भी उनकी यादों से लेनी पड़ती है

जो खुद आराम से सोये हैं मुझे करवटों में तन्हा छोर कर

Zamana Humen Itna Ghareeb Ku Samajte Hain Dost

Unko Maaloom Nahi K Hum Dard Ki Dolat Se Maala Maal Hain

ये सोच कर तेरी महफ़िल में चला आया हूँ

तेरी सोहबत में रहूँगा तो संवर जाऊंगा

तुझे मालूम भी है कितना तलबगार हूँ तेरा

पुछ उन फ़रिश्तों से जो रोज़ लीखते है दुअा मेरी

* बस एक यही बात उसकी मुझे अच्छी लगती है
उदास कर के भी कहती है
तुम नाराज़ तो नहीं हो ना

मेरी बेबसी की इंतहा मत पूछो;
मैं रो के कह रहा था वो हंस के सुन रही थी.

रोता रहा फूल सारी रात

लोग ओस कहकर वहां से गुजरते रहे

ऐसा नहीं की अब तेरी जरूरत नहीं रही,

बस टूट के बिखरने की अब हिम्मत नहीं रही…

Kyu hasate ho yaaro dard sa hota hai

Dard lekr jana Hr haseen chehra Be-dard sa hota hai

शायरी करना भी तो एक नेकी का काम है

कितने बिछड़े हुए लफ़्जो को मिला देता हूँ

Load More
Top