logo

Whatsapp Number: +91-90416-06444

अगर मेरी चाहतो के मुताबिक जमाने में हर बात होती

तो बस मै होता वो होती और सारी रात बरसात होती

यु तो किसी चीज के मोहताज नही हम.

बस एक तेरी आदत सी हो गयी है.

कभी न कभी वो मेरे बारे में सोंचेगी ज़रूर

के हासिल होने की उम्मीद भी नहीं फिर भी वफ़ा करता था

किस कदर दर्द सेहता होगा वो सख्स

जिसे अहसास हो अब ज़िन्दगी ज़िन्दगी नहीं रही

उसे किस्मत समझ कर सीने से लगाया था

भूल गए थे के किस्मत बदलते देर नहीं लगती…!!!

तुम खुश-किश्मत हो जो हम तुमको चाहते है

वरना हम तो वो है जिनके ख्वाबों मे भी लोग इजाजत लेकर आते ह

लफ्जो में कुछ यू उलझा हु में

कहीं कंही से हर चेहरा तुम जैसा लगता है

सो जाऊं उमर भर के लिए जो वो एक बार कह दे

ख्वाब में मिलने आयेगे इंतज़ार करना

टूट सा गया है मेरी चाहतो का वजूद,

अब कोई अच्छा भी लगे तो हम इजहार नही करते

शायरों ने इसे लफ़्ज़ों से सजा रखा है

वरना मोहोब्बत इतनी भी हसीन नहीं होती

जब तक तेरे पास पैसा है तब तक दुनीया बोलेगी

भाई तू कैसा है

उनको जाना था वो चले गए, हम को खोना था हम ने खो गये

फर्क सिर्फ इतना था उस ने ज़िंदगी का एक पल खोया,

हम ने एक पल में पूरी ज़िंदगी खो दी...

अजीब दस्तूर है मोहब्बत का

रूठ कोई जाता है टूट कोई जाता है.

Tere JaaNe Ka Baad Bas Itna Fark Raha

Tune JindGi sawar Di khud Ki Maine jinDgi Uzaad Di kHud ki

सुनो जिसका डर था वोही हो गया

मोहब्बत हो गयी है

मैंने जान बचा के रखी है एक जान के लिए

इतना इश्क कैसे हो गया एक अनजान के लिए

बहुत तकलीफ देती है ना मेरी बातें तुम्हे

देख लेना एक दिन मेरी ख़ामोशी तुम्हे रुला देगी

क्यों ना गुरूर करूं अपने आप पे....
मझे उसने चाहा जिसके चाहने वाले हजारों थे....

गर इसी रफ़्तार से मानेंगे सब खुद को खुदा

एक दिन दुनिया में बन्दों की कमी हो जाएगी

उस बेवफा ने मेरा ख़त बड़ी बेदर्दी से फाड़ा

मेरे शब्दों की हिचकियां मेरे दरवाजे तक आई

Load More
Top