logo

Whatsapp Number: +91-90416-06444

Ham Se Zindagi Ki Haqiqat Na Pucho Ae Dosto

Bahot Matlabi The Kuch Log Jo Tanha Kar Gaye

Agar kamjori na hote tum es Dil ki

to kasam khuda ki zinda rehna hmari majburi na hoti

er kasz

अच्छा हुआ जो तुमने तोड़ दिया गुस्ताख दिल को,

कमबख्त मुझसे ज़्यादा तुझसे प्यार करता था .

Andheri raat mere dil ki bechaini ko kya jaane

Basi hai neend aankho n mein magar soya nahi jaata

इस दुनिया में वफ़ा करने वालों की कमी नहीं...!!

बस प्यार ही उस से हो जाता हे जिसे क़दर ना हो..!!

काश आंसुओं के साथ यादे भीं बह सकती,

तो एक दिन तस्सल्ली से बैठ कर रो लेते

ठोकरें खाकर भी ना संभले तो मुसाफिर का नसीब

राह के पत्थर तो अपना फ़र्ज़ अदा करते हैं

er kasz

मैने किस्मत की लकीरों पर यकीन करना छोड़ दिया है..!!

जब इंसान बदल सकते है तो लकीरे क्यों नहीं ....!

मोहब्बत छोड के हर एक जुर्म कर लेना

वरना तुम भी मुसाफिर बन जाओगे हमारी तरह इन तन्हा रातों के

er kasz

एक ख़त कमीज़ में उसके नाम का क्या रखा

क़रीब से गुज़रा हर शख़्श पूछता है कौन सा इत्र है जनाब

कभी सोचा भी ना था के वो भी मुझे तनहा कर जाएगा.

जो अक्सर परेशान देख के कहता था मैं हूँ ना

कोई और गुनाह करवा दे मुझ से मेरे खुदा

मोहब्बत करना अब मेरे बस की बात नहीं

er kasz

अमीर होता तो बाज़ार से खरीद लाता नकली

गरीब हूँ इसलीये दिल असली दे रहा हु

duniya khamosh hui padhi hai uss ke age to

me to phir bhi tera murid hun

er kasz

खूबसुरती से धोखा न खाइये जनाब

तलवार कितनी भी खूबसुरत कयों न हो मांगती तो खून ही है

इश्क का धंधा ही बंघ कर दिया साहेब

मुनाफे में जेब जले और घाटे में दिल

er kasz

फिर नहीं बस्ते वो दिल जो एक बार उजड़ जाते हैं,

कब्रे जितनी भी सजा लो, कोई ज़िंदा नहीं होता .

वो काग़ज़ आज भी फूलों की तरह महकता है

जिस पर उसने मज़ाक़ से लिखा था मुझे तुमसे मोहब्बत है

Zindgi Tu Etna mat ettraa

Tu Bhi badlegi mere waqt ki trah

कितने आंसू बहाऊँ उस बेवफा के लिए
जिसको खुदा ने मेरे नसीब मैं लिखा ही नही

Load More
Top