logo

Whatsapp Number: +91-90416-06444

नाज है मुझे तेरी नफरतों का अकेला वारिस हूँ

मोहब्बत तो तुम्हे बहोत से लोगों से है

कल हम रहे या ना रहे

ये दिल तेरा हमेशा रहेगा

सब शिकवे हमसे कागज़ पे उतारे ना जाएंगे

कहीं पढ़ने वाला तुम्हें बददुआ ना दे दे

यही हालात इब्तदा से रहे लोग हमसे ख़फ़ा ख़फ़ा से रहे

बेवफ़ा तुम कभी न थे लेकिन ये भी सच है कि बेवफ़ा से रहे

er kasz

फुरसत अगर मिले तो मुझे पड़ना जरूर

मै नायाब उलझनों की मुकम्मल किताब हूं

Jab tak hum ye jaan pate h ki zindagi kya h

Tab tak ye aadhi khatm ho chuki hoti hain

जो सच है वो छुपा लेते हो मुझसे

तुम्हे तो अखबार होना चाहिए था

मत पूछो कैसे गुजरता है हर पल तुम्हारे बिना,

कभी बात करने की हसरत
कभी देखने की तमन्ना...❗❗

Roti rahi sarri ratt vo islaiye

Jo pyas bhuj jaye uske bache ki

सुना है आज बिक रहा है इश्क़ बाज़ार में

जाओ उस इश्क़ फरामोश से पूछो वफ़ा भी साथ देता है क्या

तू कल की तरह आज नहीँ साथ मेरे तो क्या हुआ

कैसे बताऊँ तुझे कि मोहब्बत तो हम तेरी दुरीयोँ से भी करतेँ हैँ

ख़ता ये नहीं कि उसने भूला क्यों दिया

सवाल ये है कि वो मुझे अब याद क्यों है

पत्थर की दुनिया जज़्बात नही समझती,
दिल में क्या है वो बात नही समझती,
तन्हा तो चाँद भी सितारों के बीच में है,
पर चाँद का दर्द वो रात नही समझती…

"दिन तो कट जाता है शहर की रौऩक में

पर कुछ लोग बहुत याद आते हैं शाम ढल जाने के बाद

बस इस एक पल की ख्वाईश में जिये जाते हैं हम

कि इसके बाद और कुछ नही चाहिये ज़िंदगी से

उसके खवाब से कटकर जियूँ तो ऐ मेरे खुदा

उसी लम्हा छीन लेना मुझसे तू ज़िन्दगी मेरी

दिल जाली के यहाँ तुम आना जाना छोड़ दो

गिर पड़ेगी बिजलिया यू मुस्कुराना छोड़ दो

Hai duriya to kya hua

aj bhi pyar tumko najro se nahi dil se karta hu

हौसला उसमें भी ना था यूँ मुझसे जुदा होने का

वरना काजल उसकी आँखों में यूँ फैला ना होता

मुनासिब समझो तो सिर्फ इतना ही बता दो

दिल बेचैन है बहुत,कहीं तुम उदास तो नहीं...

Load More
Top